कोल्ड से बचने के लिए 5 जादुई घरेलू उपचार जिन्हें आप शायद अभी तक नही आज़माएँ होंगे, आइए जानते हैं भारत के दादी-नानी के नुस्के : Home Remedies For Cold

कोल्ड से बीमार पड़ना उतना ही आसान है, जितना सड़क पर टहलना। मौसम के बदलाव के साथ यह तरह की बीमारियाँ होना आम बात है, इसके लिए आपको ख़ुद को सुरक्षित रखना ही सबसे अच्छा उपाय है। अगर आप कोल्ड से बीमार पड़ गए तो फिर कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितनी एंटीबायोटिक दवाओं संक्रमण से बचने के लिए घर लाते हैं।

पुराने समय में हमारी दादी-नानी ने इस तरह की बीमारियों से बचने के लिए कई घरेलू उपचारों को अपनाया था, लेकिन आज के समय हम एलोपैथी की वजह से उन सबको भूल चुकें हैं। लेकिन तथ्य यह है कि, आपको अपने लिए यह घरेलू उपचार आजमाने की जरूरत है क्योंकि वह बहुत प्रभावी होते हैं।

Home Remedies For Cold

मैंने स्वयं अपनी दादी के कड़वा पानी, काढ़ा, शहद या गर्म ताड़ी के जादू को देखा है। हमने विशेषज्ञों से बात की है और पांच घरेलू उपचार संकलित किए हैं जो आपको कोल्ड से राहत देंगे।

आइए जानते हैं कोल्ड से बचने के लिए 5 अद्भुत घरेलू उपचारों के बारे में :

  • काली मिर्च की चाय
  • हल्दी, लहसुन और दूध
  • शहद, अदरक पेस्ट और तुलसी की पत्तियां
  • नीलगिरी का तेल
  • बेसन

1. काली मिर्च की चाय

दिल्ली स्थित पोषण विशेषज्ञ डॉ अंशुल के अनुसार - काली मिर्च की चाय आम सर्दी से राहत देती है, और सीने की जलन को कम करने में मदद करती है।

यह कोल्ड में क्यों मदद करती है : डॉ अंशुल कहते हैं - काली मिर्च की प्रकृति जीवाणुरोधी है और यह देखते हुए कि यह मसाला विटामिन C में समृद्ध है, यह एक अच्छे एंटीबायोटिक के रूप में भी काम करता है।

2. हल्दी, लहसुन और दूध

1 लहसुन, 1 लौंग को दूध में उबालें और फिर इसमें 1 चम्मच हल्दी मिलाएं। कोल्ड से छुटकारा पाने के लिए रोजाना इसे दो बार पिएं। यदि आपके गले में खराश है, तो आप हल्दी के पानी से भी तेज राहत पा सकते हैं।

यह क्यों मदद करता है : हल्दी में कर्क्यूमिन होता है, जो एक सक्रिय एजेंट है जिसमें मजबूत एंटी-वायरल, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो संक्रमण का इलाज करने में मदद करता है। इसके अलावा, गर्म दूध आपके सीने से बलगम को बाहर निकालता है। अदरक एक प्राकृतिक एनाल्जेसिक के रूप में कार्य करता है और टॉन्सिल में जमाव से राहत देता है।

3. शहद, अदरक पेस्ट और तुलसी की पत्तियां

1 चम्मच शहद, 1/4 चम्मच अदरक का पेस्ट और 1/2 चम्मच तुलसी के पत्तों का काढ़ा कोल्ड से बचने का चमत्कारी उपचार है। रोजाना सुबह और शाम दो बार पियें।

यह क्यों मदद करता है : शहद में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं और पेन स्टेट कॉलेज ऑफ मेडिसिन में 2007 में किए गए एक अध्ययन में यह तथ्य सामने आया है कि शहद ओवर-द-काउंटर दवाओं की तुलना में अधिक प्रभावी है, जिसमें ज्यादातर डेक्सट्रोमेथोरोफन जैसे कफ सप्रेसेंट होते हैं। अदरक प्राकृतिक एनाल्जेसिक के रूप में कार्य करता है और तुलसी, आयुर्वेद में एक महत्वपूर्ण जड़ी बूटी है और प्रभावी रूप से हमारे श्वसन तंत्र को राहत देने के लिए कार्य करती है।

4. नीलगिरी का तेल

कोल्ड से राहत के लिए नाक और माथे पर नीलगिरी का तेल (Eucalyptus Oil) आवश्यक लगाएँ। आप एक बर्तन में गर्म पानी उबालते समय नीलगिरी के तेल में काली मिर्च भी मिला सकते हैं। ध्यान से अपने चेहरे को बर्तन के ऊपर रखें और वाष्पों को अंदर करें। यह आवश्यक है कि आप अपनी नाक के माध्यम से वाष्पों को अंदर करें, और फिर अपने मुंह से साँस छोड़ें।

यह क्यों मदद करता है : नीलगिरी के तेल में शक्तिशाली जीवाणुरोधी, एनाल्जेसिक और कफ निस्सारक गुण होते हैं। यह आपके वायुमार्ग में निर्मित कफ को बाहर निकालने में मदद करता है और सांस लेना आसान बनाता है।

5. बेसन

बेसन का शीरा कोल्ड और बहती नाक के लिए एक निश्चित शॉट उपाय हो सकता है, बस बेसन की सुगंध या बेसन का हलवा खाने से आपकी नाक की नली को साफ करने में मदद मिल सकती है।

यह क्यों मदद करता है : बेसन एंटीऑक्सिडेंट का एक भंडार है और आपके नाक के मार्ग को साफ करने में मदद करता है। यह विटामिन बी 1 (थियामिन) का भी एक अच्छा स्रोत है, जो भोजन को ऊर्जा में परिवर्तित करके थकान को कम करता है।

Post a Comment

0 Comments